रेडियो जॉकी बनने के लिए क्या क्या करना पड़ता है? रेडियो जॉकी से संबंधित पूरी जानकारी।

आकाशवाणी और ऑल इंडिया रेडियो से रेडियो एफएम तक का सफर बेहद खुशनुमा रहा है।अत्यधिक बदलाव हुए हैं जिसमें आप रेडियो जॉकी का उदाहरण भी ले सकते हैं। इनके द्वारा हर विषयों पर चर्चा होती है जैसे नई फिल्म से लेकर बड़े बड़े उद्योगपति, और सर्वोच्च पद पर विराजमान की इंटरव्यू भी ली जाती है। बहुत जल्द ही इसे भी एक महत्वपूर्ण कैरियर में सम्मिलित किया जाएगा। 

कुछ अहम सवालों का आपसे अवगत कराते हैं जो हर किसी के मन में आता होगा। तो यहां आपको उन हर सवालों का जवाब सरल भाषा में मिलेगा आरजे से संबंधित। 

जरूर पढ़ें:  शिक्षक दिवस पर निबंध

आखिर ये आरजे क्या होता है? आरजे का फूल फॉर्म क्या होता है?

आरजे का पूरा नाम रेडियो जॉकी होता है। जिसमें रेडियो जिसके माध्यम से हमलोग समाचार या गाना सुनते हैं और जॉकी उस इंसान को कहते हैं जो अपने आवाज़ से सभी को हंसाते हैं या खुश रखते हैं। जो रेडियो के माध्यम से अपने आवाज़ और गानों से लोगों का मनोरंजन करते हैं उन्हें ही रेडियो जॉकी बोलते हैं।

रेडियो जॉकी बनने के लिए कौन सी चीजें अत्यधिक महत्वपूर्ण होती है?

  • अच्छी आवाज़
  • खुशनुमा मिजाज
  • एक अच्छी कम्युनिकेशन स्किल
  • संगीत प्रेमी
  • जनरल अवेयरनेस की जानकारी
  • भाषा और उच्चारण

रेडियो जॉकी की कोई कोर्स होती है क्या?

जी हां, कुछ कोर्सेज आप कर सकते हैं रेडियो जोकि बनने के पहले जैसे – 

  • डिप्लोमा इन रेडियो प्रोग्रामिंग या ब्रॉडकास्ट मैनेजमेंट।
  • डिप्लोमा इन रेडियो प्रोडक्शन या रेडियो जॉकी।
  • पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन रेडियो एंड ब्रॉडकास्ट मैनेजमेंट।
  • सर्टिफिकेट कोर्स इन रेडियो जॉकी।

रेडियो जॉकी का कार्य क्या होता है?

इसके कार्य जानने के लिए सबसे बेहतरीन उदाहरण आप मुन्नाभाई फिल्म से ले सकते हैं।जिसमें विद्या बालन गुड मॉर्निंग मुंबई कहते हुए नजर आती है। कुछ वैसे ही काम रेडियो जोकि में भी होता है। म्यूजिक प्रोग्रामिंग,ऑडियो एडवरटाइजिंग या ऑडियो मैग्जीन या डॉक्यूमेंटरी पेश करना रहता है। 

जरूर पढ़ें:  10 बेहतरीन घूमने की जगह हमारे भारत में

योग्यता

आरजे बने के लिए कोई भी औपचारिक शिक्षा की जरूरत नहीं होती है। बस कम्युनिकेशन स्किल अच्छी होनी चाहिए और इंटरमीडिएट और ग्रेजुएट होना आवश्यक है। 

आरजे (रेडियो जॉकी) कैसे बन सकते हैं?

इंटरमीडिएट या ग्रेजुएट के बाद आप EMDI ( Encompass Institute of Radio Management) द्वारा आयोजित प्रवेश परीक्षा दे सकते हैं। उसके पश्चात आपके मेरिट के आधार पर आपका चयन होगा। 

वेतन कितनी होती है?

जैसा कि हम सभी जानते है यह एक रचनात्मक क्षेत्र है। फ्रेशर्स का वेतन देखा जाए तो 1.5 लाख या 2 लाख से शुरू होता है। परन्तु कुछ लोकप्रिय आरजे जिन्होंने अपना कैरियर सिर्फ इसे ही चुना हो,तो उनमें से कुछ लोगों की वेतन 12 से 15 लाख भी है। 

अच्छे आवाज़ से रेडियो जॉकी का क्या तात्पर्य है?

जैसा कि हम जानते हैं हमारे टोन या आवाज़ ही जिम्मेदार होता है किसी को हसाने या खुश रखने के लिए। हमारे पास 10 पेज की भी स्क्रिप्ट रहेगी और हमारी आवाज़ उस लायक नहीं रहेगी तो एक अच्छा स्क्रिप्ट भी किसी काम का नहीं रह पाता है। इसलिए रेडियो जॉकी में आवाज़ की सबसे बड़ी भूमिका होती है। 

जरूर पढ़ें:  व्यक्तित्व में सुधार कैसे करें?

भारत के कुछ प्रसिद्ध और जाने माने आरजे के नाम

  • आरजे रौनक जिन्हें बौवा के नाम से भी जानते हैं
  • आरजे नावेद
  • आरजे सार्थक
  • आरजे अनुराग पांडेय
  • आरजे सायमा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button